Wednesday, 14 November 2012

बदनाम वफाएं




कब मेरी बदनाम वफाओं ने, तुम्हें इल्ज़ाम दिया है,
ये तेरी ही जफ़ाएँ हैं  जो, हंगामा मचा देती हैं.

दुनिया भी शातिर बड़ी कि धुआँ उठते देख, 
आतिश-ए-इश्क  की अफवाहें फैला देती है.

माहिर है बड़ी दुनिया, गढ़ने में नए अफ़साने,
हर बात का रुख अपने ही हिसाब से घुमा देती है .

भेजे भी न गए हमसे, जो पैगाम कभी तुम तक,
मजमून उन लिफाफों के, बतफ़सील बता देती है .

खताबार हो कोई  और इलज़ाम किसी पे 
खुद अपने ही कायदे नए , हर रोज बना लेती है  

खाक कर दे न जिस्म,  कही खलिश दिल की 
भीतर से तो ये तपिश , दिन-रात जला देती  है ......










18 comments:

  1. बहुत जबरदस्त लिखा है। लेकिन आखरी 2 शेर में ''हर रोज बना लेती है ,''दिन रात जला देती है। होता तो नज्म के अशआर बराबर मिल जाते। खैर ,फिर भी नज्म बहुत अच्छी है।

    ReplyDelete
  2. धन्यवाद आमिर भाई, आपके सुझाव पर अमल कर लिया है..

    ReplyDelete
  3. बहुत खूब! बेहतरीन रचना...

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद कैलाश जी!

      Delete
  4. Replies
    1. धीरेन्द्र जी .आपका बाहु बहुत शुक्रिया!

      Delete

  5. कल 16/11/2012 को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. यशवंत जी ..हलचल में शामिल करने का शुक्रिया!

      Delete
  6. माहिर है बड़ी दुनिया, गढ़ने में नये अफसाने ...
    बहुत खूब।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद सदा जी!

      Delete
  7. क्या कहने ...
    बहुत ही बढियां गजल लिखा है..
    अति सुन्दर...
    :-)

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद रीना जी,

      Delete
  8. bahut hi sundar rachana likhi hai ap ne badhai shalini ji

    ReplyDelete
    Replies
    1. नवीन जी, प्रशंसा के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

      Delete
  9. वाह....
    बेहतरीन गज़ल....
    हर शेर लाजवाब है..

    अनु

    ReplyDelete
    Replies
    1. अनु जी, तारीफ़ के लिए बहुत शुक्रिया !

      Delete
  10. बहुत खूब.....चौथा शेर सबसे बढ़िया लगा।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद इमरान जी!

      Delete

आपकी टिप्पणी मेरे लिए अनमोल है.अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई ,तो अपनी कीमती राय कमेन्ट बॉक्स में जरुर दें.आपके मशवरों से मुझे बेहतर से बेहतर लिखने का हौंसला मिलता है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks