Friday, 9 November 2012

दिल के जज़्बात

आज की यह पोस्ट आमिर भाई के नाम जिनके सौजन्य से आप मेरे ब्लॉग का यह नया रूप देख रहे हैं .. और यह नया नाम भी... काफ़ी दिन से आमिर भाई सुझाव दे रहे थे कि ब्लॉग का स्वरूप कुछ परिवर्तित होना चाहिए ..पर मेरे जैसे गैर तकनीकी इंसान के लिए यह एक बहुत मुश्किल काम था... आज आमिर ने अपना बहुत सारा समय देकर मेरे ब्लॉग को यह नया जामा पहनाया है जिसे देख मैं आश्चर्यचकित हूँ ... आमिर भाई, दुबई में रहते हुए भी भारतीय ब्लोगेर्स के लिए बहुत सहयोग कर रहे हैं व उनके कई ब्लॉग नए ब्लोगर्स की मदद के लिए तकनीकी व अन्य उपयोगी जानकारी उपलब्ध करवाते हैं ... उनके कुछ ब्लोग्स के लिंक इस प्रकार हैं ...

मास्टर्स टैक टिप्स 

मोहब्बत नामा 

इंडियन ब्लोगर्स वर्ल्ड 


आमिर भाई, आपके सहयोग के लिए तहे दिल से आपकी शुक्रगुज़ार हूँ ..आज के समय में आपके सामान निस्वार्थ भाव से किसी की मदद करने वाला इंसान मिलाना मुश्किल है ....आशा है आप आगे भी ऐसे ही मार्गदर्शन करते रहेंगे...... आज की पोस्ट आपके नाम ....




दिल के जज़्बात कुछ इसतरह , 
सारी कायनात में बिखर गए .
कुछ अश्क बनके बह गए, 
कुछ अशरार बन नगमों में ढल गए .

चाँद की बज़्म में कमी सी दिखी तो, 
सितारे बन रात के दामन टंक गए .
जुगनू बन जलते-बुझाते वो रहे,
 जज़्बात जो ज़माने से डर गए .

सख्त राहों पे न हों पाँव घायल
फूल बन उनकी राहों में बिखर गए .
दिल के सुलगते ज़ख्मों पर , 
बरसात बन करके बरस गए .

आह दिल से उठी तो पलकों पर, 
बूंद शबनम की बनके ठहर गए .
किसी आहट पे बेतरह चौंक, 
दिल की धडकन बन सिह- सिहर गए.

वजूद औलाद का जहाँ में लाने को, 
बन पसीना पेशानी पे माँ की छलक गए.
मंदिर का दिया बनके झिलमिलाए, 
कभी मस्जिद की अज़ानों में खुदा तक गए .



24 comments:

  1. बहुत सुंदर जज़्बात |
    सच मे आमिर जी का हिन्दी ब्लोगिंग और हिन्दी नए-पुराने ब्लोगर्स के प्रति योगदान बहुमूल्य है | आज कल ऐसे लोग विरले ही मिलते हैं | उनको भविष्य की शुभकामनायें |

    ReplyDelete
    Replies
    1. प्रदीप जी, बिलकुल सही कहा है आपने... इसकदर मददगार व्यक्ति मिलना बहुत मुश्किल है... हम सब उनकी कामयाबी की दुआ करते हैं

      Delete
  2. bhut accha se aapne sudar dhang se jajbaat ko sabdo me dhala bhut accha laga.....

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद वरुण जी!

      Delete
  3. aapke blog ka font arial hai sayad isliye ye khuch browsar me tute phute hindi sabd dikhate hai aap indian blogger word ke jaisa watermark blue ya iske templet ka font change kar de to aapki kabita har brosar par sundar dikhegi

    ReplyDelete
  4. saalini ji aap font Georgi rakhe ye sabhi brosar par accha hindi font dikhti hai templet/edit html/open templet dejainer/ me jaakar advaance par clik kare side me option aayenge baari baari sabme Georgi font set kar le ye tin number par hi hai danybaad.

    ReplyDelete
    Replies
    1. वरुण जी, आपकी सलाह के लिए धन्यवाद ....मैं ज़रूर फॉण्ट चेंज करने का प्रयास करूंगी .

      Delete
    2. फॉण्ट चेंज कर दिए गये हैं.अब ये फॉण्ट जो अभी हैं.हर ब्राउज़र में एक दम सही नज़र आ रहे हैं.किसी भी ब्राउज़र में कोई प्रोब्लम नही है.

      Delete
    3. धन्यवाद आमिर भाई!

      Delete
  5. ब्लॉग का लुक वास्तव मे बहुत अच्छा है।

    बेहतरीन गजल


    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. यशवंत जी, आपको पसंद आया इसके लिए, शुक्रिया... वैसे आपकी तारीफ इसकी सही जगह,,यानि आमिर भाई तक पहुंचा दूंगी|

      Delete
  6. आमिर भाई को बहुत-2 बधाई सुन्दरता से सजा दिया आपका ब्लॉग और उस पर आपकी आज प्रस्तुति चार चाँद लगा रही है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद अरुण!

      Delete
  7. ज़ज्बात बहुत ही अच्छे

    ReplyDelete
    Replies
    1. रश्मि जी... बहुत बहुत शुक्रिया!

      Delete
  8. आपकी ब्लॉग पर दीपावली का रंग रोगन हो गया.और इसकी खूबसूरती में निखार आ गया.अब लगता है की जितना सुन्दर आप लिखती हैं ,उतनी ही सुन्दर आपकी ब्लॉग है.और रहा इस काम का ,तो ये तो कोई भी कर सकता है.इसमें आमिर जैसों का कोई कमाल नही.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आमिर जी, हो सकता है आपके लिए आसान काम हो...पर मेरे लिए तो यह कर पाना मुमकिन ही नहीं था ...

      Delete
  9. Replies
    1. महेंद्र जी ... सादर धन्यवाद!

      Delete
  10. आपकी रचना के साथ२ नया लुक देने के लिए आमिर जी को बहुत२ बधाई ,,,,शालिनी जी,

    दीपावली की हार्दिक बहुत२ शुभकामनाए,,,,
    RECENT POST:....आई दिवाली,,,100 वीं पोस्ट,

    ReplyDelete
    Replies
    1. धीरेन्द्र जी ..पहले तो रचनाओं का शतक पूरा करने की बहुत बहुत बधाई ... और आपकी शुभकामनाओं के लिए शुक्रिया!

      Delete
  11. wah wah shalini ji bahut sundar likha hai pr apni pasandeeda laino ki copy nahi kr pa rha hun shayad ap ne rok rkha hai .....deepawli pr hardik badhai

    ReplyDelete
    Replies
    1. bahut bahut dhanyvaad naveen ji.... aapake vichar va tippaniyan mere liye mahattv pooran hain.

      Delete
  12. बहुत खुबसूरत.....ब्लॉग का नया स्वरुप अच्छा है.....आमिर भाई को सलाम.....टिप्पणी बॉक्स के ऊपर सन्देश आना चाहिए न कि नीचे हो सके तो सुधार करें।

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणी मेरे लिए अनमोल है.अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई ,तो अपनी कीमती राय कमेन्ट बॉक्स में जरुर दें.आपके मशवरों से मुझे बेहतर से बेहतर लिखने का हौंसला मिलता है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks